ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
सच कहूं तो मेरा दिल इस हुनर के क़ाबिल है -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
October 13, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • हास्य व्यंग/साहित्य

तुम्हारी मासूमियत भी तुम्हारा एक हथियार है !! 

तेरी मासूम निगाहों ने घायल कर दिया मुझको !!

*************************

एक मासूम का दर्द बांटने की कोशिश थी मेरी ! 

निगाह पड़ी जो हैवान की कोशिश बेकार हुई !! 

*************************

मासूम चेहरों से बचने की कोशिश हुआ करती है मेरी ! 

मासूम लोगों से नजरें मिला बहुत नुकसान उठाया मैंने !! 

*************************

मासूम लोगों से मिलकर उनका दुख बांटना आसान नहीं ! 

किसी की मासूमियत भी कभी-कभी बड़ा खेल करती है !! 

*************************

एक मासूम हसीना से मिलकर दिल बहलाने की कोशिश थी उसकी ! 

कैसे बताऊं कोशिश को कामयाब करने में उसके दिल का दर्द भारी हो गया !! 

*************************

मेरे दिल की हर धड़कन में तुम्हारी पुकार शामिल है ! 

मेरी मासूमियत का पता ढूंढने में थक गया दिल तुम्हारा !! 

*************************

मासूम लोगों से रिश्ता निभाने को हुनर चाहिए ! 

सच कहूं तो मेरा दिल इस हुनर के क़ाबिल है !! 

******************** तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !