ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
पत्रकार व भाजपा नेता शुभममणि हत्याकांड का पुलिस ने करीब 11 दिन बाद खुलासा किया, लेडी डॉन दिव्या पति समेत गिरफ्तार, FB पोस्ट बनी थी हत्या की मुख्य वजह
July 5, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • उत्तर प्रदेश

उन्नाव। पत्रकार व भाजपा नेता शुभममणि हत्याकांड का पुलिस ने करीब 11 दिन बाद खुलासा कर दिया है। पुलिस ने शुभममणि हत्याकांड की मुख्य आरोपी उन्नाव की लेडी डॉन और भूमाफिया दिव्या अवस्थी को पति कन्हैया अवस्थी और देवर के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने लेडी डॉन के तीन शूटर समेत एक अन्य सहयोगी सहित 9 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। पुलिस ने बताया कि लेडी डॉन दिव्या अवस्थी और शुभममणि के बीच पिछले काफी समय से खींचतान थी।

अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी विनोद कुमार पांडेय ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि दिव्या अवस्थी का शुक्लागंज इलाके में प्लाटिंग का कार्य है, जिसको मोनू खान देखता है। दिव्या अवस्थी के प्लाटिंग पर हुए अवैध निर्माण की खबर शुभममणि त्रिपाठी द्वारा समाचार पत्र में छाप जाने के बाद राजस्व विभाग द्वारा अवैध निर्माण को गिरा दिया गया था। इतना ही नहीं, शुभममणि पर पूर्व में हुए हमले के संबंध में दिव्या अवस्थी पर मुकदमा भी पंजीकृत कराया गया था।

पूर्व की रंजिश तथा लॉकडाउन के दौरान दिव्या अवस्थी और मोनू खान के खिलाफ शुभममणि ने पोस्ट डालने का सिलसिला शुरू कर दिया था। इससे दिव्या खुद को अपमानित महसूस कर रही थी। पुलिस के मुताबिक, शुभममणि ने 31 मार्च को फेसबुक पर एक पोस्ट डाली, जिसमें उसने लिखा कि वार्ड नंबर 14 में चोर उचक्के और लुटेरे बन चुके हैं समाजसेवी। नगर की माताएं, बहनें सतर्क रहें। राशन देने के बहाने घर की कीमती चीजों पर साफ कर सकते हैं हाथ। इस पोस्ट पर दिव्या अवस्थी इतना बौखला गई कि उसने शुभममणि को रास्ते से हटाने का फैसला ले लिया।

इसके लिए दिव्या और मोनू खान ने अफसर अहमद और अब्दुल बारी को चार लाख रुपए की सुपारी दी थी। जिसके बाद सूपारी किलर ने शुभममणि की हत्या 19 जून को सहसजी चौराहे के पार गोलियां मारकर कर दी थी। इस मामले में शुभम के भाई ऋषभ ने शक्ति नगर निवासी भूमाफिया दिव्या अवस्थी, उसके पति कन्हैया अवस्थी समेत 10 लोगों पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वहीं, हत्याकांड के 10 दिन बीत जाने के बाद भी नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से परिवार ने 13वीं संस्कार न करने का फैसला लिया था। साथ ही चेतावनी दी थी कि गिरफ्तारी नहीं हुई तो मुख्यमंत्री की चौखट पर धरना-प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद पुलिस ने तेजी पकड़ी और घटना की मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

 

एसपी उत्तरी ने बताया कि 23 जून को पुलिस ने नामजद आरोपियों में शहनवाज को हिरासत में ले लिया तो उसने दिव्या की पोल खोल दी। इसके बाद पुलिस से दिव्या उसके पति व शूटरों की तलाश में जुटी थी। सोमवार को पुलिस ने मुख्य आरोपी भूमाफिया दिव्या अवस्थी, उसके पति कन्हैया अवस्थी, गंगाघाट के अहमद नगर निवासी सूफियान, मिश्रा कालोनी के संतोष बाजपेई व दो शूटरों में कानपुर के बांसमंडी, अनवरगंज निवासी शानू उर्फ गांधी व तलाक महल, बेकनगंज के टीपू सुल्तान उर्फ राशिद को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से एक कार, घटना में प्रयुक्त दो बाइक, 3 तमंचा व दो मोबाइल भी बरामद किए हैं।