ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
पचपेड़िया रोड निर्माण के आंदोलन का तीसरा दिन पुरुषों ,महिलाओं के अब बच्चो ने शुरू किया प्रदर्शन,नेताओ ने समर्थन किया
July 17, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्तीः- पचपेड़िया रोड के निर्माण को लेकर व्यापारी नेता आनंद राजपाल के नेतृत्व में जनांन्दोलन लगातार तीसरे दिन जारी रहा। शुक्रवार को स्कूली बच्चों ने मोर्चा संभाला और बुद्धि शुद्धि यज्ञ कर सड़क निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिये अफसरों और नेताओं का ध्यान खींचा।

 स्कूली बच्चों का कहना था कि वे इसी रास्ते से साइकिल, ऑटो या पैदल चलकर स्कूल जाते हैं। आये दिन गिरते हैं, दुर्घटना होती है, चोटिल होते हैं और यूनीफार्म खराब हो जाते हैं। आनंद राजपाल ने कहा तीन दिन के आन्दोलन के बाद नगरपालिका ने सड़क पर काम शुरू करा दिया है। गिट्टी इत्यादि गिराकर गड्ढों पाटा जा रहा है, फौरी तौर पर सड़क को गड्ढा मुक्त करने से राहगीरों को राहत मिलेगी।

समाजसेवी राना दिनेश प्रताप सिंह ने कहा आश्वासन के मुताबिक सड़क निर्माण में धोखा दिया तो एक बड़े आन्दोलन की पृष्ठभूमि तैयार होगी। इसकी सारी जिम्मेदारी स्थानीय प्रशासन की होगी। उन्होने कहा प्रशासन और नेता जनता को भेड़ बकरियां समझना बंद करें। जनता जागरूक हो चुकी है और जनहित के मुद्दों पर उनकी आवाज दबाई नही जा सकती है। 

आज के धरने में पहुंचे सदर विधायक ने कहा सड़क निर्माण के लिये जो टेण्डर निकाला गया था, निरस्त हो गया है लेकिन बजट वापस नही गया है। पुनः टेण्डर करवाकर शीघ्र ही निर्माण की प्रक्रिया शुरू कराई जायेगी। उन्होने आन्दोलन कर रहे जागरूक नागरिकों से कहा कि निर्माण के समय भी इसी तरह जागरूकता दिखायें और गुणवत्ता खराब होने पर उन्हे तुरन्त बतायें। 

आपको बता दें पचपेड़िया रोड शहर को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ता है। इस पर अनेक एजेंसिया, नामी गिरामी व्यापारिक प्रतिष्ठान, स्कूल और हॉस्पिटल हैं। विगत दो वर्षों से सड़क पुरी तरह गड्ढों में तब्दील है। इसके निर्माण को लेकर स्थानीय नेताओं और प्रशासन का लचर रवैया रहा है।

 तीसरे दिन बुद्धि शुद्धि यज्ञ में राजकिशोर पाठक, हनुमत मिश्रा, रामप्रताप सिंह, आनंद राव राठौर, हरि निषाद, रोहित, आशा सिंह, सुकन्या, बीडी पाण्डेय, अमित रावत, राजेश्वरी त्रिपाठी, पिण्टू तिवारी, राहुल गुप्ता, विनोद, गुप्ता, छक्कन, मनोज सिंह, मीना, हिमांशी, कमलेश शुक्ला, राकेश तिवारी, अम्बिकेश्वर त्रिपाठी, पुनीत मिश्रा, आलोक पाण्डेय, रवि निषाद आदि ने योगदान दिया।