ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
नगर पालिका की करोड़ों की जमीन पर गलत तरीके से काबिज होना चाहते हैं भू माफिया, राजस्व रिकार्ड मे में 21 मई 1951 को असिस्टेंट कलेक्टर की अदालत के आदेश पर नगर पालिका को हैंडओवर किया गया था
June 26, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती: 15 वर्ष पूर्व बंद हो चुकी सीतापुर नेत्र चिकित्सालय की भूमि पर स्वामित्व को लेकर चल रहे घमासान के दौरान नगर पालिका ने अस्पताल की भूमि को अपना बताया है।

जिला महिला अस्पताल के ठीक पीछे वर्ष 1977 में स्थापित सीतापुर नेत्र चिकित्सालय वर्ष 2005 में बंद हो गई। नगर पालिका ने इस पर अपना अधिकार बताते हुए अस्पताल के जर्जर भवन को जेसीबी से ढहाना शुरू किया तो जिला पंचायत ने इस पर आपत्ति जताई। वहीं नगर पालिका की अध्यक्ष रूपम मिश्रा और अधिशासी अधिकारी अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि जिस भूमि पर सीतापुर नेत्र चिकित्सालय स्थापित किया गया था वह नगर पालिका की थी। उसे 21 मई 1951 को असिस्टेंट कलेक्टर की अदालत के आदेश पर नगर पालिका को हैंडओवर कर दिया गया था। कहा कि इन दिनों कुछ स्वार्थी तत्वों की ओर से जिला पंचायत को गुमराह करके अपना उल्लू सीधा करने की कोशिश की जा रही है। वे नपा की करोड़ो रुपये की जमीन पर गलत तरीके से काबिज होना चाहते हैं। राजस्व रिकार्ड में यह भूमि जिला पंचायत के नाम है ही नहीं।