ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
नानकोविड जिला अस्पताल की व्यस्थाओं पर डीएम नाराज,संक्रामक रोग नियंत्रण,महिला सर्जिकल वार्ड सहित कई वार्डों के निरीक्षण में मिली खामियां
July 9, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती 09 जुलाई 2020 सू०वि०, नानकोविड जिला अस्पताल की व्यस्थाओं पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने गहरा असंतोष व्यक्त किया है। बुद्धवार की देर शाम उन्होने संक्रामक रोग नियंत्रण एवं बुखार उपचार केन्द्र, महिला सर्जिकल वार्ड, सोल्जर वार्ड, प्राईवेट वार्ड तथा ट्रामा सेण्टर का अकस्मिक निरीक्षण किया। इस अवसर पर सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका, सीएमओ डा0 जेपी त्रिपाठी तथा प्रमुख अधीक्षक डाॅ0 रोचस्पति पाण्डेय उपस्थित रही। 

             बुखार उपचार केन्द्र के निरीक्षण में उन्होने पाया कि यहाॅ आने वाले मरीज का सम्पूर्ण विवरण रजिस्टर में दर्ज नही किया जा रहा है। उन्होने निर्देश दिया कि बुखार से पीड़ित होकर आने वाले मरीज की ट्रेवल हिस्ट्री अवश्य दर्ज की जाय। सायंकालीन ओपीडी में यहाॅ कुल 09 मरीज आये थे, जिसमें से 01 को सोल्जर वार्ड में भर्ती किया गया था। शेष 08 को दवा दे दी गयी थी। यहाॅ पर डाॅ0 वीके वर्मा आयुष चिकित्सक डियूटी पर थे। 

          जिलाधिकारी ने सोल्जर वार्ड में स्थापित वेन्टीलेटरयुक्त कक्ष का निरीक्षण किया। यहाॅ पर कोई मरीज भर्ती नही था। दूसरे वार्ड में मरीजों को भर्ती किया गया था। महिला सर्जिकल वार्ड में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों को न भर्ती किए जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। उन्होने कहा कि इसका उपयोग इमरजेन्सी के लिए किया जा सकता है। 

             जिलाधिकारी ने प्राईवेट वार्ड में साफ-सफाई तथा पीने का पानी आदि की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होने निर्देश दिया कि जिला अस्पताल का पिछला गेट लोगों के आवागमन के लिए बन्द रखा जायेंगा। इस रास्ते से केवल कोविड-19 के सम्भावित रोगी को लाने वाली एम्बुलेन्स के लिए खोला जायेंगा। 

         उन्होने निर्देश दिया है कि बुखार पीड़ित प्रत्येक व्यक्ति का सावधानीपूर्वक ईलाज किया जाय। इसकी पूरी केस हिस्ट्री रजिस्टर में दर्ज की जाय। रिपोर्ट पाॅजिटिव आने पर उसे कैली या रूधौली कोविड हास्पिटल में सिफ्ट किया जाय। 

--------------