ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
मुआवजे की मांग को लेकर सपा नेता सिद्धार्थ के साथ धरने पर बैठे किसान उप जिलाधिकारी के आश्वासन पर धरना किया स्थगित
June 7, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती। राम-जानकी मार्ग के चौड़ीकरण में किसानों की जमीन का बिना मुआवजा दिये सड़क निर्माण कराये जाने के विरोध में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं उ.प्र. आवास विकास परिषद पूर्व उपाध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह ने रविवार को दुबौलिया विकास खण्ड के सैनिया चौराहे के निकट स्थित बाग में शारीरिक दूरी का पालन करते हुये किसानों के साथ धरना दिया। मांग किया कि किसानों को समुचित मुआवजा दिये जाने के बाद ही सड़क निर्माण शुरू कराया जाय। धरने पर बैठे सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि पूर्व में ही जबरिया निर्माण कराये जाने के सवाल को लेकर प्रदेश के राज्यपाल, जिलाधिकारी आदि को ऑन लाइन ज्ञापन दिया गया था किन्तु कोई पहल न होने पर किसानों के विशेष दबाव को देखते हुये धरना देना पड़ा। धरने की सूचना मिलते ही दुबौलिया थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे और किसानों को मनाने का प्रयास किया। बात न बनने पर उप जिलाधिकारी हर्रैया ने सपा नेता सिद्धार्थ सिंह से मोबाइल पर वार्ता कर स्थितियांे की जानकारी लिया और आग्रह किया कि किसान धरना समाप्त कर दें, सोमवार 8 जून को दिन में 11.30 बजे वार्ता के बाद समस्या का समाधान करा दिया जायेगा।

सपा नेता सिद्धार्थ सिंह ने एन.एच. 227 ए के प्रोजेक्ट मैनेजर के विरूद्ध दुबौलिया थाने में तहरीर दिया है कि वे बिना किसानों के जमीन का मुआवजा दिलाये जबरिया सड़क निर्माण करा लेना चाहते हैं। यह किसानों के साथ सरासर अन्याय है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

     छावनी से रामपुर जनपद सीमा तक राम-जानकी मार्ग का उच्चीकरण का कार्य चलने पर सड़क के किनारे किसानों की खतौनी में दर्ज जमीन को शामिल कर खुदाई कराये जाने से चकदहा, दुबौली दूबे डेईडीहा, बेदपुर, मझियार, विशुनपुरा, भिउरा खुशहाल गंज, गोकुलपुर के किसान अपने हक को लेकर आन्दोलित है और जबरिया सड़क निर्माण का विरोध कर रहे हैं लेकिन ठीकेदारों द्वारा जोर जबरदस्ती से खुदाई कार्य तीव्र गति से जारी है।

      चकदहा दुबौली दूबे एवं डेईडीहा के काश्तकारों ने हाईकोर्ट में रिट दाखिल कर मुआवजा भुगतान की मांग की है । हाईकोर्ट ने जिलाधिकारी को एक सौ बीस दिन में किसानों की मांग पर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया था जबकि वेदपुर मझियार विशुनपुरा भिउरा की रिट लाक डाउन की वजह से हाई कोर्ट में लम्बित है । हाईकोर्ट की जिलाधिकारी को दी गयी समय सीमा समाप्ति के बाद भी जिलाधिकारी की तरफ से किसानों की मांगों पर कार्रवाई न होने से आवास विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष सपा नेता सिद्धार्थ सिंह ने अब किसानों को मुआवजा दिलाने के लिए कमर कस ली है और दुबौलिया थाना क्षेत्र के सैनिया चौराहे पर धरना पर बैठ गये । ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हर्रैया से सपा नेता की फोन पर हुई वार्ता के बाद धरना समाप्त किया गया ।