ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
लखनऊ के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए ऑन लाइन वाद -विवाद प्रतियोगिता का किया आयोजन
September 22, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

सामाजिक संस्था चेतना एवं सेफ संस्था और एच सी एल फाउंडेशन के तत्वाधान में आज लखनऊ के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए एक ऑन लाइन वाद -विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसका विषय था *"ऑनलाइन शिक्षा उचित या अनुचित"* यह प्रतियोगिता डिजिटल प्लेटफॉर्म ज़ूम के माध्यम से आयोजित की गई इस प्रतियोगिता में लखनऊ के 14 सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 120 से अधिक बच्चों ने प्रतिभाग किया।

इस वाद विवाद प्रतियोगिता का संचालन चेतना संस्था के स्टेट एडवोकेसी कोर्डिनेटर राजेंद्र कुमार ने किया उन्होंने सभी बच्चो को बताया की आपको दो मिनट का समय दिया जायेगा इसी में आपको अपनी बात रखनी है। इसके साथ ही साथ इन बच्चों की प्रतिभा परखने और उनके मत के सभी पहलुओं को जानने के लिए एक जूरी कमेटी भी बनाई गई इस जूरी कमेटी में 3 सदस्य थे श्री अमिताभ मेहरोत्रा ( निदेशक स्पार्क इंडिया) ड्रा अयाज़ (कथा संस्था ) और श्रीमती अजिता सिंह गौर ( प्राथमिक विद्यालय जुगौली)। 

चेतना संस्था के निदेशक श्री संजय गुप्ता ने बताया की आज इस डिबेट कंपटीशन रखने का उद्देश्य यह जानना था कि कोविड-19 की वजह से जो शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ऑनलाइन हो गई है तो उससे बच्चे किस तरह से प्रभावित हो रहे हैं उसके सभी पहलुओं को बच्चो से ही जानना है । क्यों की हम सब ऑन लाइन के एक पहलू से परिचित है वह है एक शिक्षक का पक्ष या पढ़ाने वाले का पक्ष। 

सभी बच्चों ने बारी बारी से अपने क्रम से इस प्रतियोगिता में भाग लिया और अपनी बात बड़े ही साहस और उत्साह के साथ रखी ।इस वाद-विवाद प्रतियोगिता में ऑनलाइन शिक्षा उचित में प्रथम स्थान पाया प्राथमिक विद्यालय बहादुर पुर से सुफियान , दूसरा स्थान पाया प्राथमिक विद्यालय बहादुर पुर से खतीजा ने और तीसरा स्थान पाया GGIC विकास नगर से सबा इसी तरह से ऑनलाइन शिक्षा अनुचित में प्रथम स्थान पाया उच्च प्राथमिक विद्यालय नौबस्ता से मोहिनी , दूसरा स्थान पाया प्राथमिक विद्यालय आर्यनगर से निदा और तीसरा स्थान पाया प्राथमिक विद्यालय पल्टन खदरी। 

इस कार्यक्रम को आयोजित कराने में शिखा , अजय और चेतना संस्था एवं सेफ संस्था के सदस्यों का विशेष सहयोग रहा।