ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
कथित बीजेपी नेता ने एंटीक समान की टेस्टिंग करने के बहाने युवक को बुलाया था कानपुर, कर लिया किडनैप मांगी 1 करोड़ की फिरौती, परिजनों ने एमपी पुलिस से की शिकायत
July 22, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • उत्तर प्रदेश

यूपी के कानपुर देहात से अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां एक भाजपा नेता ने अपने साथियों के साथ मिलकर एंटीक समान की टेस्टिंग करने वाले व्यक्ति का अपहरण कर लिया. उसे एंटीक समान की टेस्टिंग करने के नाम पर बुलाया गया था. यही नहीं अपहरण करने के बाद उन लोगों ने उसके घरवालों से 1 करोड़ की फिरौती भी मांगी और उसकी बेरहमी से पिटाई भी की.

किडनैप हुए व्यक्ति के परिजनों ने मध्य प्रदेश की पुलिस से अपहरण की शिकायत की. तभी मध्य प्रदेश पुलिस ने यूपी पुलिस से बात की. मध्य प्रदेश के युवक के अपहरण की बात सुनकर यूपी पुलिस हरकत में आई. अपहरणकर्ताओं के साथ पुलिस ने अपहरण हुए व्यक्ति को सकुशल छुड़वा लिया और अपहरणकर्ताओं को जेल भेज उनके अन्य साथियों की तलाश में जुट गई.

ये मामला यूपी के कानपुर देहात का है. जहां अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले सत्यम सिंह चौहान ने एक चमत्कारी बॉक्स को चेक कराने के नाम पर मध्य प्रदेश के खंडवा से पंडित सुशील तिवारी को 19 जुलाई 2020 को कानपुर देहात बुलावाया. सुशील तिवारी जो पेशे से पंडिताई का काम करता है. साथ ही वह एंटीक समानों की परख करता है जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों की कीमत होती है. एंटीक समानों को चेक करने का सुशील तिवारी किलोमीटर के हिसाब से रुपये लेते हैं और फीस फिर लाखों में हो जाती है. जिसके बाद, सत्यम सिंह चौहान ने रोहित, पंकज और अन्य साथियों के साथ मिलकर पूरी योजना बनाई.

 

पुलिस को सत्यम सिंह चौहान के पास से सफेद रंग की टीयूवी (TUV) कार भी बरामद की है जिसपर भाजपा जिला मंत्री भी लिखा है. साथ ही उस पर भाजपा का झंडा भी गाड़ी में लगा है. वहीं, पुलिस को दिल्ली नम्बर की बार वाली एक नीले रंग की बलेनो भी बरामद की है. इसी गाड़ी से भाजपा नेता का दोस्त रोहित सिंह सुशील तिवारी को दिल्ली से अपने साथ लेकर आया था. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य लोगों की तलाश के लिए टीम गठित कर दी है.

 

अपहरण हुए व्यक्ति सुशील तिवारी अपने ड्राइवर के साथ मध्य प्रदेश से अपनी कार से कानपुर देहात पहुंचा था. कानपुर देहात में पहुंचने के बाद इन लोगों ने उसको एक होटल में मिलने के लिए बुलाया और उसके बाद उसकी फीस जानकर उसको ही किडनैप कर लिया. पंडित सुशील कुमार ने बताया कि इन लोगों ने उसको किडनैप कर 1 करोड़ की फिरौती उसके घरवालों से मांगी. साथ ही, उसका एटीएम (ATM) लेकर उससे भी रुपये निकल लिए और पिटाई भी की.

 

जिसके बाद अपहरणकर्ताओं ने उसको होटल से ले जाकर किसी सुनसान जगह पर रखा हुआ था. फिर उसके ही फोन से उसके परिजनों को फोन करवाकर 1 करोड़ की फिरौती की मांग की. पुलिस ने जांच में पाया कि पीड़ित सुशील कुमार के शरीर पर पिटाई के निशान भी मौजूद थे. एसपी अनुराग वत्स का कहना है कि सत्यम सिंह चौहान के साथ कितने लोग शामिल हैं इसकी जांच की जा रही है. अन्य साथियों की जांच और पकड़ के लिए टीम गठित कर दी गई है. जल्द ही उनको भी गिरफ्तार किया जाएगा.