ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
जिलाधिकारी के आदेश को नही मानती बस्ती पुलिस,भदेश्वर नाथ में भक्तों पर बरसी लाठियां,धार्मिक संगठनों एवं शिवभक्तो में गुस्सा
July 7, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती । अब इसे जिला प्रशासन एवं पुलिस के बीच तालमेल का अभाव कहे या भोले भक्तो की खराब किस्मत । गये थे हरि भजन को ओटन लगे कपास जी हां कुछ ऐसा ही हुआ भगवान भोलेनाथ के मासूम भक्तो के साथ । बीते सोमवार को सावन के पहले दिन बाबा भदेश्वरनाथ को जलाभिषेक करने गये भक्तों को अर्शिवाद तो नही मिला पर पुलिस की लाठियां जरूर 

भोले भक्तों को आस्था भारी पड़ गयी। पुलिस ने उन्हे जबरन लठियांया । जिससे जनपद के शिव भक्तों में गुस्से का माहौल है ।

सावन के पहले सोमवार को बड़ी संख्या में शिव भक्त पूर्व की भांति बाबा भदेश्वरनाथ के दरबार में जलाभिषेक के लिए रवाना हुए यद्यपि रास्तें में पुलिस द्वारा की गयी बैरिकेटिंग के चलते अधिकांश शिवभक्त रास्ते से ही लौट आये किन्तु उसके बावजूद अच्छी खासी संख्या में शिवभक्त ग्रामीण रास्तो के सहारे मंदिर पर पहुॅचने में कामयाब हो गये अभी वह जलाभिषेक की तैयारियों में ही लगे थे कि कुपित खाकी के गुस्से का शिकार हो गये । नाराज पुलिसकर्मियों ने शिवभक्तो पर जमकर बल प्रयोग किया जिसके चलते वहां अफरा तफरी मच गयी कोई लोटा छोड़ कर भागा तो कोई अपना अन्य सामान । शिवभक्तों को पुलिसकर्मियों के अचानक दिखाई पड़े इस रौद्ररूप का अन्दाजा नही था ना ही इसका कोई कारण ही उनके समझ में आया । बताते चले जिलाधिकारी बस्ती ने सवान के पहले सोमवार को जलाभिषेक की तैयारियों के क्रम में आदेश जारी किया था कि लोग अपने आसपास स्थित मंदिरों में मास्क एवं सोसलडिस्टेसिंग का पालन करते हुए 5-5 की संख्या में जलाभिषेक करें । लोगो ने जिलाधिकारी के निर्देश का पालन करते हुए स्थानीय भदेश्वरनाथ मंदिर में जलाभिषेक का प्रयास किया किन्तु उन्हे पुलिस की लाठियां खाने को मिली सवाल यह है कि क्या जिलाधिकारी के आदेश से बस्ती पुलिस अनजान थी या वह सबकुछ जानते हुए भी शिवभक्तों पर अपना रौब गालिब कर जनपदवासियों को कोई और संदेश देना चाहती है ।

 फिलहाल सावन के पहले सोमवार को शिवभक्तों की पिटाई को लेकर संतसमाज एवं तमाम धार्मिक संगठनों सहित बड़ी संख्या में भक्त मर्माहत है लोगो में पुलिस की कार्रवाई को लेकर गुस्सा है ऐसे में यदि ऐसी घटनाओं की पुर्नावृत्ति होती है तो लोगो का गुस्सा सड़क पर उतर सकता है ।