ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
इम्यूनिटी बढ़ाना कोरोना काल की पहली प्राथमिकता नियमित योग और गिलोय आदि के प्रयोग से इम्यूनिटी को आसानी से बढ़ाना सम्भव
August 4, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती 4 अगस्त। किसान सेवा समिति बस्ती के नेतृत्व में पतंजलि योग समिति, भारत स्वाभिमान बस्ती के पदाधिकारी व योग शिक्षकों द्वारा दुर्गा मन्दिर गाॅवगोड़िया परिसर में वर्तमान के धनवन्तरि एवं वनौषधि पण्डित आचार्य बालकृष्ण का जन्म दिवस बहुत उत्साहपूर्वक मनाया गया जिसमें योग शिक्षक गरुणध्वज पाण्डेय ने आचार्य बालकृष्ण की दीर्घायु के लिए वैदिक यज्ञ कराया और बताया कि कोरोना नामक वैश्विक महामारी के रोकथाम के लिए दिन रात एक करके आचार्य बालकृष्ण जी व स्वामी रामदेव के नेतृत्व में पतंजलि रिसर्च इन्स्टीच्यूट हरिद्वार ने विश्व में सबसे पहले कोरोनिल किट की सौगात पूरे विश्व को दी है। इस उपकार के लिए पूरी मानवता उनकी ऋणी रहेगी। इस अवसर पर अवधेश पाण्डेय जिला प्रभारी किसान सेवा समिति ने विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों के प्रयोग और सावधानियों के बारे में बताया। गिलोय के बारे में बताते हुए उन्होने कहा कि जिस प्रकार जल में गंगा, पशुओं में गाय श्रेष्ठ है उसी प्रकार औशधियों में गिलोय सर्वश्रेष्ठ है। इसके प्रयोग से शरीर में रोगों से लड़ने व उन्हें समाप्त करने की क्षमता बढ़ जाती है।  डा. वीरेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने बताया कि योग और आयुर्वेद आरोग्यता का मूल है आज जो लोग अंग्रेजी दवाओं से थक गये हैं या गरीबी के कारण दवाइयों का खर्च उठाने में अक्षम हैं वे योग करके एवं अपने पास पायी जाने वाली औषधियों से सहज में ही ठीक हो सकते हैं। इसी कड़ी में ओम प्रकाश आर्य जिला प्रभारी भारत स्वाभिमान समिति बस्ती ने कहा कि आचार्य जी ने आयुर्वेद की बुझती ज्योति को पुनः तेज किया और पूरे संसार में पतंजलि चिकित्सालय एवं आरोग्य केन्द्रों के माध्यम से फैलाया जिससे जनता को अंग्रेजी दवाओं का एक मजबूत विकल्प प्राप्त हुआ है। साथ ही अन्य स्वदेसी उत्पादों को बाजार में लाकर विदेशी का बहिष्कार करने का अस्त्र भी लोगों को प्रदान किया है।

योग शिक्षक डॉ. कुलदीप सिंह ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए, नियमित योग और गिलोय आदि के प्रयोग से इम्यूनिटी को आसानी से बढ़ाना सम्भव होता है।

 इसके पश्चात आयुर्वेदिक औषधीय पौधों जैसे नीम, तुलसी, गिलोय, देशी गेंदा, सदाबहार, आर्टीमीशिया, घृतकुमारी आदि का वितरण किया गया तथा आर्य समाज गाॅधी नगर के ऋषि उद्यान में आवला, घृतकुमारी, तुलसी, अजूबा, गेंदा आदि का रोपण भी किया गया। इसके अलावा हरैया में कौशलेन्द्र विक्रम सिंह व कुॅवर आनन्द प्रताप सिंह, भानपुर में सुभाष चन्द्र सोनी व घनश्याम सिंह रूधौली में दिनेश चन्द्र पाण्डेय व अनिल कुमार श्रीवास्तव ने जड़ी बूटी का वितरण किया।

सुभाष चन्द्र आर्य जिला प्रभारी पतंजलि योग समिति ने बताया कि जिले में जड़ी बूटी पखवारा 1 अगस्त से 15 अगस्त तक मनाया जायेगा जिसके तहत न्यायपंचायत स्तर तक के योग शिक्षकों द्वारा गांव गांव औषधीय पौधों की खेती से होने वाले लाभ के बारे में बताया जायेगा तथा ऐसे पौधों का रोपण भी किया जायेगा। साथ साथ गांवावालों को गिलोय की पहचान कराकर उसके उपयोग से कोरोना को हराने के गुर भी सिखाये जायेंगे। इस अवसर पर विश्वनाथ प्रसाद शर्मा,डॉ. कुलदीप सिंह, डॉ प्रवेश कुमार, नवल किशोर चौधरी, चन्द्रप्रकाश चौधरी, जवाहर यादव वैद्य,अजीत कुमार पाण्डेय, गोपाल, गुड्डू पाण्डेय आदि ने आयुर्वेद से प्राप्त अपने अनुभव को बताते हुए आचार्य बालकृष्ण के दीर्घायु होने की कामना किया।