ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
दिल्ली :व्यापारी ने खुदकुशी की,सुसाइड नोट में एक नामी स्कूल के मालिक पर अश्लील फोटो वीडियो दिखा कर ब्लेकमेल करने का आरोप लगाया
June 28, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • राष्ट्रीय

दिल्ली के रानीबाग इलाके में एक व्यापारी की खुदकुशी करने का मामला सामने आया है. पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें व्यापारी ने दिल्ली के रोहिणी सेक्टर-3 के एक नामी स्कूल के मालिक, उनके बेटे, स्कूल की प्रिंसिपल और स्कूल के एडमिन विभाग के एक कर्मचारी पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. पुलिस ने इस बाबत मामला दर्ज कर लिया है.

दरअसल, 51 साल के चावल कारोबारी भूपेंद्र गुप्ता ने 25 जून को पीतमपुरा के अपने घर में जहर खा लिया. उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई. मरने से पहले मृतक व्यापारी भूपेंद्र ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसको पुलिस ने बरामद कर लिया है. पुलिस ने परिवार की शिकायत पर रानी बाग पुलिस स्टेशन में इस बाबत एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

पुलिस के मुताबिक, मृतक कारोबारी के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने आत्महत्या करने की वजह उसके पार्टनर द्वारा प्रताड़ित करना बताया है. सुसाइड नोट में लिखा है कि मृतक की एक प्रॉपर्टी के दस्तावेज को बैंक में मॉरगेज कर लोन लिया था और अब आरोपी मृतक की दूसरी प्रोपेर्टी के कागज भी मांग रहे थे.

घरवालों ने पुलिस को शिकायत दी है, जिसमें ये आरोप लगाया है कि लॉकडाउन की वजह से सरकार ने स्कूल को पेरेंट्स से पूरी फीस वसूलने पर रोक लगा दी थी, जिसकी वजह से स्कूल को भारी नुकसान उठाना पड़ा था. आरोप है कि स्कूल को हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए स्कूल के मालिक बाप-बेटे ने इस चावल कारोबारी से उसकी 20 करोड़ की प्रोपर्टी हड़पने के लिए अश्लील फोटो और वीडियो दिखाकर झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रहे थे.

झूठे केस में फंसाने की दे रहे थे धमकी

आरोप है कि दोनों बाप-बेटे के अलावा कारोबारी को धमकाने और झूठे केस में फंसाने के मामले में स्कूल की प्रिंसिपल और स्कूल के ऑफिस का एक कर्मचारी भी शामिल थे. पुलिस को मिली शिकायत में ये भी आरोप लगाया गया है कि कारोबारी को नामी स्कूल के मालिक, उसके बेटे और स्कूल प्रिंसिपल ने 20 जून को एक साजिश के तहत स्कूल में बुलाया था.

मृतक कारोबारी जब स्कूल पहुंचा तो वहां स्कूल की प्रिंसिपल भी मौजूद थीं. मृतक कारोबारी से स्कूल मालिक ने प्रॉपर्टी के कागजों पर साइन कर प्रॉपर्टी उनको देने को कहा. मना करने की सूरत में उनको कुछ फोटो और वीडियो दिखाए और उन वीडियो के आधार पर कारोबारी को झूठे केस में फंसाने की धमकी देने लगे.

बताया जा रहा है कि स्कूल के मालिक और चावल कारोबारी पहले कभी बिजनेस पार्टनर हुआ करते थे. इसलिए दोनों एक दूसरे की कमियों को अच्छी तरह जानते थे. आरोप है कि कारोबारी को इस बाबत लगातार ब्लैकमेल किया जा रहा था, जिससे मृतक बहुत परेशान हो चुका था और इसी वजह से उसने खुदकुशी कर ली.

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में भी आरोपियों पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. साथ ही साथ मृतक ने सुसाइड नोट के आखिरी में ये भी लिखा है कि उसके मरने के बाद उसके अंग दान कर दिए जाएं. फिलहाल पुलिस का कहना है कि परिवार से मिली शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.