ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
दिल्ली स्थित 'नई पीढ़ी फाउंडेशन' के कार्यालय मेंआचार्य बालकृष्ण का जन्मदिन जड़ी बूटी दिवस के रूप में मना कर उनके प्रयासों को रेखांकित किया गया
August 4, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • राष्ट्रीय

नई दिल्ली। आज दिल्ली स्थित 'नई पीढ़ी फाउंडेशन' के कार्यालय में एक सादे समारोह के दौरान 'पतंजली योग पीठ' के सी. ई. ओ. आचार्य बालकृष्ण का जन्मदिन "जड़ी बूटी दिवस" के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर फाउंडेशन के अध्यक्ष तथा "राइटर्स एण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन" (वाजा इंडिया)के राष्ट्रीय महासचिव शिवेन्द्र प्रकाश द्विवेदी ने आधुनिक दौर मे आयुर्वेद के क्षेत्र में आचार्य बालकृष्ण के प्रयासों को रेखांकित करते हुये कहा कि आयुर्वेद के अन्तर्गत एक लाख से अधिक जड़ी बूटियो की खोज वैदिक संस्कृति की महान उपलब्धि रही। जिसे वक्त के साथ लोग भूलते चले गये। जिस पर आधुनिक दौर में आचार्य बालकृष्ण जी ने सर्वाधिक काम किया है। उनके द्वारा लिखी गई औषध दर्शन ,विश्व भेषज संहिता चेकलिस्ट,अजीर्णामृतमंजरी,आयुर्वेद सिद्धान्त रहस्य, जड़ी बूटी रहस्य,वेद वर्णित वनस्पतियां, विश्व भेषज संहिता,दिव्य औषधीयसुगंधित एवं सौंदर्यीकरण पौधे, अष्ट वर्ग - रहस्य,प्लांट फैमिलीज ऑफ द वर्ल्ड, वैद्य शतश्लोकी,जैसी तमाम पुस्तकें देश-विदेश के लाखों वैद्यों के चिकित्सकीय प्रशिक्षण की आधारशिला बनी है। श्री द्विवेदी ने कहा कि दुनिया मे करीब साढ़े चार लाख से अधिक विभिन्न प्रकार के पौधे हैं जिनमें से 67400 औषधीय गुणों से युक्त पौधों की पहचान कर उनके नामों की सूची तैयार करने का पहला प्रयास आचार्य बालकृष्ण ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर किया है। वह जिस तरह से लगातार जड़ी बूटियों पर शोधरत हैं, उसे देखते हुये महसूस होता है कि निश्चित रूप से उनके ऐसे अनेक प्रयास पुनः भारतीय आर्युवेद की महत्ता से सम्पूर्ण विश्व को परिचित कराकर मनुष्य की तमाम शारीरिक व्याधियों का निर्मूलन करेंगे।

इस अवसर पर "नई पीढ़ी शिक्षक मंच" के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण जड़ी बूटियों की खोज हेतु कई बार स्वय॔ जंगलों में निकल जाते हैं उनकी यह दीवानगी निश्चित रूप से मनुष्य के व्याधियों की अपार पीड़ा से उपजी होगी। इसी तरह "नई पीढ़ी अभिभावक मंच" के राष्ट्रीय संयोजक दुर्गा प्रसाद ने आचार्य बालकृष्ण के योगदान की सराहना की तथा 'न्ई पीढ़ी महिला मंच' की राष्ट्रीय संयोजक शैलकुमारी ने आचार्य बालकृष्ण के दीर्घायु होने की कामना की।

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर लेखकों पत्रकारों के साझा मंच "राइटर्स एण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन" के राष्ट्रीय संगठन सचिव वरिष्ठ पत्रकार करूणा शंकर, सामाजिक कार्यकर्ता डा. प्रणव कुमार, डा. शिखा नायक, श्रीमती रजनी मजूमदार, श्री सज्जन कुमार,श्री विशाल भट्ट, श्री राजेन्द्र जोशी, प्रोफेसर श्री कमलेश कुमार, पत्रकार श्री जनार्दन सिह, राम प्रकाश तिवारी, इत्यादि मौजूद रहे, कार्यक्रम के अंत मे 'नई पीढ़ी फाउंडेशन' के राष्ट्रीय सचिव कृष्ण गोपाल मिश्र ने उपस्थित सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुये समस्त उपस्थित महानुभावों को तुलसी का एक - एक पौधा भेंट किया।