ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
चीन से तनातनी के बीच भारतीय सेना की पूरी तैयारी,विवाद सुलझाने के लिए 6 जून को होगी लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की मीटिंग
June 3, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • राष्ट्रीय

नई दिल्ली। भारत-चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद को लेकर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन एलएसी के पास सेना जमा कर रहा है। उन्होंने कहा कि सेना के अधिकारियों ने उन्हें इसकी जानकारी दी है। अभी तक की बात-चीत का कोई हल नहीं निकल पाया है।

6 जून को एक मीटिंग प्लान की जा रही है, जिसमें दोनों देशों के लैफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारी भाग लेंगे और मामले को सुलझाने की कोशिश करेंगे।

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय सेना भी पूरी तरह तैयार है, लेकिन अगर बात-चीत से मामला हल हो सकता है तो मीटिंग रखी जाएगी। दोनों देश इस मीटिंग के लिए तैयार हो गए हैं, जिससे यह संकेत मिलते हैं कि मामला बात करके सुलझाया जा सकता है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारा, चीन के साथ सीमा को लेकर कुछ विवाद है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को लेकर चीन अपनी सीमा अलग दर्शाता है और वास्तव में सीमा अलग है। इसको लेकर अभी सैन्य अधिकारियों के स्तर पर बात की गई लेकिन इसका कुछ हल नहीं निकल पाया है।

6 जून को लैफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारी मीटिंग में शामिल होंगे। चीन भी मीटिंग के लिए तैयार हो गया है। हमें उम्मीद है मामला बात-चीत के जरिए सुलझ सकता है।

मीटिंग में दोनों देश अपनी सेनाएं हटाने पर सहमत हो सकते हैं। बता दें कि मई के पहले सप्ताह में चीन की सेना एलएसी के पास जमा होने लगी थी, इसके बाद भारत ने भी यहां अपनी सेना तैनात करना शुरू कर दिया था। सूत्रों का कहना है दोनों देश मीटिंग में सेनाएं हटाने पर सहमति बना सकते हैं। लद्दाख के प्योंगयांग और गालवान नाला के पास भारतीय सेना डटी हुई है। वहीं, चीन की सीमा के पास चीनी सेना भी तैैनात है।