ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
भाकियू ने किया तहसील मुख्यालयों पर प्रदर्शन,किसान समस्याओं को लेकर योगी को संबोधित कर उप जिलाधिकारियों को सौंपा ज्ञापन
June 30, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती । भारतीय यूनियन राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर जिलाध्यक्ष जयराम चौधरी के संयोजन में मंगलवार को तहसील अध्यक्षों के नेतृत्व में बस्ती, हर्रैया, रूधौली और भानपुर में उप जिलाधिकारियों के माध्यम से किसान समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन भेजा गया।

बस्ती सदर तहसील में तहसील अध्यक्ष फूलचन्द चौधरी, हर्रैया में हरिप्रसाद, भानपुर में श्यामनरायन सिंह और रूधौली में रामकृष्ण चौधरी के नेतृत्व में धरना देकर ज्ञापन सौंपा गया।

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में डीजल, पेट्रोल की कीमत कम करने, पेट्रोलियम पदार्थो को जीएसटी के दायरे में लाये जाने, बकाया गन्ना मूल्य का ब्याज समेत भुगतान, कराने, बंद पड़ी बस्ती, वाल्टरगंज चीनी मिल को चलाये जाने, पुलिस का उत्पीड़न बंद कर किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने, फल, सब्जी, दूध, पोल्ट्री, फिशरीज, मधुमक्खी पालन, फूल उत्पादक किसानों को लॉक डाउन से हुये नुकसान की पूर्ति के लिये विशेष पैकेज दिये जाने, किसान सम्मान निधि का लाभ पहली की तरह सभी किसानों को दिये जाने, किसान सम्मान निधि की राशि 6 हजार रूपये से बढाकर 24 हजार रूपया किये जाने, न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून के दायरे में लाकर समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर खरीद करने वालों पर कार्रवाई किये जाने, आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन एवं कॉन्टेªक्ट फार्मिंग अध्यादेश एवं प्रस्तावित विद्युत संशोधन अधिनियम को वापस लिये जाने, किसानों के सभी तरह के कर्जे माफ किये जाने, बिजली की दर कम करने, नलकूपों पर 16 घंटे विद्युत आपूर्ति किये जाने, घरेलू व निजी नलकूपों के संयोजन पर व्याज एवं पेनाल्टी की छूट 2 माह के लिये बढाये जाने आदि की मांग शामिल है।

जनपद के सभी 4 तहसीलों पर आयोजित धरने एवं ज्ञापन सौंपने वालों में भाकियू के मण्डल महासचिव शोभाराम, उपाध्यक्ष दिवान चन्द पटेल, राम मनोहर चौधरी, रामचन्दर सिंह, घनश्याम चौधरी, सत्यराम, राम सूरत, फूलचन्द शर्मा, राम सुरेमन, त्रिवेनी चौधरी, राममहीपत, गौरीशंकर, रामफेर, गंगाराम, राजेन्द्र प्रसाद चौधरी, चन्द्र प्रकाश उपाध्याय के साथ ही अनेक पदाधिकारी शारीरिक दूरी का पालन करते हुये धरना और ज्ञापन देने वालों में शामिल रहे।