ALL बस्ती मंडल उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय अर्थ जगत फिल्म/मनोरंजन/खेल/स्वास्थ्य अपराध हास्य व्यंग/साहित्य धर्म विविध
बस्ती में दिनाॅक 24 मई 2020 से प्रथम चरण में सभी चिकित्सालयों में ओ0पी0डी0 सेवाए संचालित:- डी एम
June 18, 2020 • डॉ पंकज कुमार सोनी • बस्ती मंडल

बस्ती 18 जून 2020 सू०वि०, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया है कि आम जनमानस को चिकित्सीय उपचार में आ रही कठिनाइयों के दृष्टिगत जनपद में दिनाॅक 24 मई 2020 से प्रथम चरण में सभी चिकित्सालयों में ओ0पी0डी0 सेवाए संचालित कर दी गयी है। कोविड-19 के संक्रमण के कारण समस्त चिकित्सालयों में ओ0पी0डी0 सेवाए बन्द कर दी गयी थी। 

          उन्होने बताया कि सम्यक विचारों परान्त द्वितीय चरण में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो/प्राईवेट क्लीनिको में सभी प्रकार की ओ0पी0डी सेवाए संचालित करने का निर्णय लिया गया है। आम जनमानस को समुचित चिकित्सीय सुविधाए उपलब्ध कराने के लिए जनपद के समस्त सरकारी एवं निजी चिकित्सालय संचालित रहेंगे। 

        जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि स्वास्थ्य केन्द्र पर आने वाले मरीजों की इन्फ्रारेड थर्मामीटर से स्क्रीनिंग की जायेंगी। रोगी के साथ मात्र एक तीमारदार को प्रवेश की अनुमति दी गयी है। मरीजो व तीमारदारों के लिए अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करना होगा। स्वास्थ्य केन्द्र पर मरीजो के लक्षण यथा (जुखाम, खाॅसी, बुखार या साॅस) लेने में तकलीफ वाले रोगियों को अलग कक्ष में जाॅच एवं उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित रहेंगी। 

         उन्होने बताया है कि चिकित्सालय परिसर में उपरोक्त कक्ष के संबंध में दिशा सूचक चिन्ह प्रदर्शित किए जायेंगे, जिससे उक्त लक्षण वाले सथी रोगी पंजीकरण काउण्टर पर न जाकर सिर्फ संबंधित कक्ष में प्रवेश कर अपना जाॅच एवं उपचार कराये। जिन स्वास्थ्य केन्द्रो पर प्रतिदिन ओ0पी0डी0 में आने वाले मरीजों की संख्या अधिक होती है वहाॅ एक से अधिक पंजीकरण काउण्टर खोले जायेंगे। 

       उन्होने निर्देश दिया है कि चिकित्सीय सुविधाए प्राप्त करने में प्रत्येक दशा में चिकित्सको, विभागीय कर्मचारियों, मरीजों सहित समस्त आमजन को सोशल डिस्टेन्सिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। स्वास्थ्य केन्द्रों एंव प्राईवेट क्लीनिक की फर्स, दीवारों, फर्नीचर, दरवाजे एवं अन्य शतहो का हाईपोक्लोराईड घोल से नियमित विसंक्रमण किया जायेंगा। इसके साथ ही मरीजो के सहयोगी के रूप साथ आने के लिए 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति, बच्चों एवं गर्भवती महिला को अनुमति नही होगी। 

----------